Full Form Full Form in Hindi Hindi Full Form

TRP Full Form In Hindi

TRP फुल फॉर्म:- हेल्लो दोस्तों, टी आर पी फुल फॉर्म इन हिंदी, क्या आप सभी को इसके बारे में मालूम है की TRP का फुल फॉर्म क्या होता है, या किसे कहते है, और यह क्या है, इसे हिंदी में क्या कहते है. तो अगर आपको इसके बारे में मालूम नहीं है, तो आपको इस पोस्ट में इसके बारे में पूरा जानकारी दिया जा रहा है. TRP फुल फॉर्म के साथ इसके बारे में और भी जानकारी इस पोस्ट के मदद से आप प्राप्त कर सकते हैं.

TRP का नाम तो आपने जरुर सुना होगा लेकिन आपने इसके कभी ध्यान नहीं दिया होगा, अपने तो सोचा होगा की यह तो एक शोर्ट फॉर्म है लेकिन आप सभी आज से जान लें की इसका भी फुल फुल फॉर्म होता है. तो आप इस पोस्ट को पूरा पढ़े आपको सारी जानकरी यहाँ पर मिल जायेगा.

TRP Full Form:Television Rating Point

Aap sabhi ko bata den ki TRP का फुल फॉर्म Television Rating Point होता है. और इसे हिन्दी में (टेलीविज़न रेटिंग पॉइंट) ही कहते है. जो एक टेलीविज़न कार्यक्रम की लोकप्रियता को प्रकाशित करता है. इसका उपयोग एक निर्धारित करने के लिए किया जाता है की कौन सा टेलीविज़न कार्यक्रम सबसे अधिक देखा जाता है. TRP लोगो की पसंद का एक सूचकांक देता है और विशेष कार्यक्रम की लोकप्रियता को दर्शाता है. और यह उच्च TRP के साथ एक कार्यक्रम प्रकाशित करता है और उस कार्यक्रम को बड़ी संख्या में दर्शकों द्वारा देखा जाता है. विज्ञापनदाताओं के लिए इसका डाटा बहुत उपयोगी है क्योंकि वे उच्च TRP बाले कार्यक्रमों के दौरान अपने विज्ञापन देते हैं.

TRP का कैसे पता लगाया जाता है

TV सीरियल और चैनल का TRP चेक करने के लिए कुछ जगह पर People Meter को लगा दिया जता है. तो यह डिवाईस अपने एरिया के सभी सेटप बॉक्स से कनेक्ट हो जता है या फिर ये अपने एरिया के अन्दर आने बाले सभी सेटप बॉक्स से अपने कनेक्शन जोड़ देता है, आपको बता दें की ये सही TRP जानने के लिए केबल TV की जगह सेटप बॉक्स लगाने पर जोर दिया जता है इससे TRP का सही अनुमान लगाया जा सकता है. और ऐसा करने से TRP का सही अनुमान लगाने में आसान हो जाता है. किसी विशेष जगह पर लगाये गये Popel Meter अपने आस पास से Set Top Box की जानकारी ऊपर Moniter कर रही जो Monitoring Team तक भेजती है.

अगर किसी चैनल का TRP कम या ज्यादा है तो इसका प्रभाव सीधे चैनल की कमाई पर पढ़ता है. जैसे की Sony, Star, Lifeok, Discovery और भी जितने चैनल है सभी विज्ञापन के द्वारा ही पैसे कमाते हैं. ऐसे में अगर किसी चैनल का TRP कम है तो उसको विज्ञापन के ज्यादे पैसे नहीं मिलेगें या फिर बहुत कम विज्ञापनदाता मिलेगें. और इसके ठीक उल्टा अगर किसी चैनल का TRP ज्यादा होगा तो उसे ज्यादा पैसा विज्ञापनदाता के द्वारा मिलेगें. TRP केवल चैनल ही नहीं किसी विशेष सीरियल या Show पर भी निर्भर करता है.

और इस इनफार्मेशन से पता चलता है की कौन से चैनल को सबसे ज्यादा देखा जा रहा है और उस Chainal द्वारा प्रसारित होने बाले कौन से show को सबसे ज्यादा देखा जा रहा है तो ये सब रेटिंग के हिसाब से पता लगाया जाता है और इसे ही TRP कहते हैं. Pople Meter द्वारा भेजी गयी Information को Analysis करने के बाद Monitoring Team तय करती है की कौन से चैनल और Show की TRP सबसे ज्यादा है.

TRP से टीवी चैनल की इनकम कैसे होती है

आप सभी को हम बताना चाहेगें की सभी चैनल की 90% कमाई विज्ञापन से ही होती है और ये विज्ञापन हर प्रोग्राम के एक दो तिन मिनट के ब्रेक में आते हैं. कोई भी विज्ञापनदाता किसी चैनल पर अपना विज्ञापन दिखाने के लिए बहुत ज्यादा पैसे चैनल बालों को देते हैं. इस तरह से इन चैनल की अधिकतर कमाई आपको दिखाए जा रहे है जो विज्ञापन से ही होती है. तो जिस चैनल की TRP जितनी ज्यादा होती है बह चैनल अपने प्रोग्राम के बिच में यानि ब्रेक में विज्ञापन दिखाने के लिए विज्ञापन से उतने ही ज्यादा पैसे लेते हैं.

जैसे की आप सभी को बता दें की TV Chanel अपने किसी भी प्रोडक्ट का Advertisement करना चाहते हैं तो आप किसी High TRP बाले Serial जैसे नागिन या The Kapil Shrma Show को ही अपने प्रोडक्ट का Advertisement करने के लिए चुनेगें और जब अपने Advertisement करने के लिए High TRP बाले Serial को चुनेगें तो आपको Low TRP बाले Serial की तुलना में इससे ज्यादा पैसे भी भुगतान करना होगा.

TRP की जाँच कौन और कैसे करता है

क्या आप जानते हैं की Television Rating Point कौन तय करता है. इसका जाँच कौन करता है किसी किसी चैनल की TRP कितनी है तो आपको निचे में बताया गया है जिसे आप पढ़ सकते हैं.

तो आप सभी को बता दें की TRP Calculate 2 भारतीय एजेंसी के द्वारा किया जता है जिनके नाम INTAM और DART है.

INTAM:- की फुल फॉर्म Indian Television Audience Measurement है. बर्तमान में INTAM ही मुख्य एजेंसी है जो TRP चेक करती है.

DART यानि दूरदर्शन ऑडियंस रिसर्च टीम उस समय से TRP करती थी जब एक ही चैनल हुआ करता था Doordarshan. हालाँकि यह एजेंसी अभी भी काम कर रही है. DART जो ग्रामीण लोगों के टीवी देखने के पैटर्न की जाँच करती है. यह एजेंसी गाबो में जाकर बहा लोगो से टीवी चैनल और अलग अलग प्रोग्रामो के बारे में सबाल पूछती है. और इसके साथ में ये इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से भी लोगो का मुड और पसंद करती है.

तो आप सभी को TRP के बारे में बताया गया, और TRP के फुल फॉर्म भी बताया गया और इसके साथ इसके बारे जानकारी भी दिया गया जिसे पढ़कर आप इसके बारे में समझ ही गये होंगे की TRP का फुल फॉर्म क्या होता है और किसे कहते हैं.

About the author

fullform

Leave a Comment